आज सुबह ऐसी खबर आई की हिल गया मै, अभी तक अजीब सा लग रहा है । शायद वैसी फीलिंग आ रही जैसे कोई अपना रोज मिलने वाला भाई या दोस्त कहीं दूर चला गया है , अपना इरफान अब हमारे बीच नहीं रहा वो उसका इंतकाल हो गया है ये कह पाना भी कुछ खराब सा लग रहा है । 3-4 ट्वीट कर चुका हु पर उससे मन हल्का नहीं हो रहा ।फिल्म मदारी का क्लाइमैक्स सीन यू ट्यूब पर देखने लगा तो रोना आ गया जिसमे वो कहता है हॉस्पिटल वालों ने उसके बच्चे के मृत शरीर को थैले मे दिया वो सोच नहीं प रहा था की इसे जलाऊ या दफनाऊ। वो भी बंद कर दिया ।

हम सब सबसे ज्यादा चर्चा खानों की करते हैं जाहिर है उसमे इरफान का नाम नहीं आता था पर आज मैंने लिखा अपने ट्वीट से कि ” हम भले बात khans कि करते हो पर आज मुझे यह कहने मे कोई शक नहीं कि इरफान खान खानों के खान है .. वह ग्रेट खान हैं” । वो अपना सा लगता है सिम्पल कभी उसको बिजनेस टाइकून के रोल मे नहीं देखा जैसा बाकी खान करते है न फालतू का लवर बॉय वाले सींस ।कल जब ये खबर आई कि उनकी तबीयत खराब है और उनको अस्पताल मे भर्ती कराया गया है तो एक पल को भी न लगा कि आज यह खबर आएगी । उनकी अंतिम फिल्म इंगलिश मीडियम आई है कुछ दिन पहले देखनी शुरू किया था पर पूरी नहीं कर पाया , कैसी विडम्बना रहेगी की आधी मोवी उनके जीवित रहते देखा था बाकी आधा उनके जाने के बाद । सबसे ज्यादा अफसोस इस बात का है की अब उनकी अदाकारी देखने को नहीं मिलेगा ।

इरफान की अदाकारी की सबसे खास बात यह है की वह एफर्ट्लेस अदाकारी करते है ,बिलकुल नेचुरल; आपको लगता है की आप भी वही कही फ्रेम मे हो , ये नहीं लगता की हाल मे सीट पर बैठे हो । उनकी अदाकारी की गहराई तो वैसे अभी समझ मे आई है जब हम बड़े हो गए। बाकी उनके देख तो हम सालो से रहे है आपको भी याद होगा एक सीरियल आता था दूरदर्शन पर भारत एक खीज उसमे उन्होने कई रोल किए, फिर चंद्रकांता मे भी थे एक अइयार बद्रीनाथ को रोल उन्होने किया था ।पहले इनके आंखो के नीचे ज्यादा फूला हुआ सा रहता था फिर बाद मे तो वह कम हो गया था ।

उनका अंदाज़ ही ऐसा था की लोगों को मज़ा आता था ,उनके संवाद बोलने मे , देखने के अंदाज़ मे , मुस्कुराने मे , खड़े होने मे सबमे अलग मज़ा आता था देखने मे । उनकी हाल के वर्षों मे आई फिल्में जैसे पान सिंह तोमर , पिकू , साहब बीवी और गंगस्टेर (अगर नाम सही है जिसमे महि गिल भी थी),मदारी, एक अभी डेटिंग पर आई थी फिल्म नाम नहीं याद आ रहा , हिन्दी मीडियम , कारवां देखि मोबाइल पर बहुत अच्छी , तलवार देख लीजिये , ऐश्वर्या के साथ आई थी एक फिल्म अभी,लाइफ ऑफ पाई । सब मज़ेदार ।

मुझे पता है ये समय भी निकाल जाएगा , सब धीरे धीरे नॉर्मल हो जाएगा पर जब भी इरफान की कोई फिल्म देखेंगे तो सभी तड़प कर रह जाएंगे की यार ये चला गया । ज़हीर सी बात है अब इरफान की तरफ से इस जनम मे कुछ नया नहीं मिलेगा , वैसे आप चाहे तो उनकी फिल्मे दोबारा एकेले मे देख सकते है , सबमे मे कुछ न कुछ सीखने को जरूर मिलता है , अपनी लाइफ स्टाइल के बारे मे , लाइफ की प्रॉब्लेम्स के बारे मे  सीख सकते हैं आप । ज्यादा नहीं तो कूल रहना तो सीख ही सकते हैं ।

irf

अलविदा भाई फिर मिलेंगे,

क्योंकि यहा तो कोई है नहीं जो आपके द्वारा किए गए रिक्त स्थान की पूर्ति कर सके ॥

ईश्वर आपकी पत्नी और पुत्र को ताकत और हौसला दे , शायद आपका बेटा ही अगला इरफान बने ।

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s